इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय आपको ये 7 दस्तावेज अपने पास रखने होंगे।

Cloud Computing

आयकर रिटर्न दाखिल करने के दौरान आपको किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जो आपको इस प्रक्रिया के दौरान रखना चाहिए।

1 फॉर्म -16 : अगर आप नौकरीपेशा हैं तो आईटीआर के दौरान फॉर्म -16 होना बहुत जरूरी है। यह आपको अपने नियोक्ता से मिलता है। इसमें कर्मचारी के वेतन, एचआरए, चिकित्सा परामर्श और धारा 80 सी के तहत निवेश के बारे में पूरी जानकारी शामिल है। इस फॉर्म में एक वित्तीय वर्ष में आपको दिए गए पूरे वेतन और टीडीएस के बारे में जानकारी होती है।

2 सैलरी स्लिप : आपकी सैलरी स्लिप में कंपनी से प्रति माह मिलने वाले पैसे का हिसाब रखा जाता है। वेतन पर्ची में कई प्रमुखों के तहत आपको प्राप्त धन का विवरण शामिल है। जैसे बेसिक सैलरी, HRA, डीयरेंस अलायंस, मेडिकल अलाउंस, कन्वेंशन अलायंस आदि। आपकी सैलरी स्लिप में मिलने वाले पैसे के साथ-साथ कटौती भी दर्ज की जाती है।

3 फॉर्म -16 ए / फॉर्म -16 बी / फॉर्म -16 सी : अगर आपको वेतन के अलावा किसी अन्य स्रोत से आय हुई है और उस पर टीडीएस काटा जाता है, तो आपको उस कंपनी द्वारा फॉर्म -16 ए दिया जाता है। यदि आपकी संपत्ति बेची गई है, तो आप खरीदार को फॉर्म -16 बी देते हैं, इस पर सभी जानकारी दी जाती है कि उस पर कितना टीडीएस काटा जाता है। यदि आप मकान मालिक के रूप में किराये से कमा रहे हैं तो आपको किराए पर काटे गए टीडीएस का विवरण प्रदान करने के लिए किरायेदार को फॉर्म 16 सी देने के लिए कहा जाना चाहिए।

4 फॉर्म 26AS : फॉर्म 26 एएस एक टैक्स क्रेडिट स्टेटमेंट है जिसमें सभी करों का विवरण आपकी ओर से (आपकी कुल आय से) आयकर विभाग को प्राप्त हुआ है। आप इनकम टैक्स की वेबसाइट से फॉर्म 26 एएस डाउनलोड कर सकते हैं। आपको इस फॉर्म को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

5 आधार कार्ड : आईटीआर प्रोसेस करने के बाद अब इसे प्रोसेस करने के लिए आधार और पैन कार्ड लिंक होना जरूरी है। आयकर की धारा 139 एए के तहत, आईटीआर दाखिल करने के लिए आईटीआर से संबंधित जानकारी प्रदान करना आवश्यक है।

6 निवेश विवरण : यदि आपने इक्विटी लिंक्ड म्यूचुअल फंड या पीपीएफ में निवेश किया है, तो यह आपको कर में छूट देने के लिए उपयोगी है। इसलिए, आपने जो भी निवेश किया है, अपने तैयार विवरण को रखें।

7 होम लोन का ब्योरा : अगर आपने होम लोन या कोई अन्य लोन फाइनेंस कराया है, तो आपको उसका विवरण भी रखना चाहिए। उन्हें कर छूट मिलती है।

Leave a Reply